टू चाइल्ड पाॅलिसी इन हिंदी , दो बच्चो का कानून इन हिंदी

 

 राज्यसभा में एक सदस्य द्वारा दो बच्चो की निति से संबधित एक निजी विधेयक ( Private Member Bill ) सदन में प्रस्तुत किया गया.

 


           विधेयक में राज्यसभा सदस्य द्वारा की गई मुख्य बातें.

  • इस विधेयक में उन लोगो के लिए कराधान, शिक्षा , और रोजगार के प्रोत्साहन का प्रस्ताव है. जो अपनी Family का आकर दो बच्चो तक सिमित रखते है.
  • संविधान के भाग -4 में एक नये प्रावधान को शामिल करने की मांग की गई है, ये प्रावधान ऐसे लोगो से सभी छुट वापस लेने से सम्बंधित है जो छोटे परिवार के माप- दंड का पालन नहीं करते है
  •  संविधान के अनुछेद -47A के अनुसार ,राज्य सरकार बढती जनसँख्या को रोकने के लिए , जो लोग छोटे परिवार को यानि 2 बच्चो तक परिवार को सिमित रखते है ,उन लोगो को Tax , रोजगार और शिक्षा आदि में प्रोत्साहन देकर बढावा दिया जाए , और जो लोग इस निती का पालन नहीं करते है , तो उन लोगो से सभी प्रकार की छुट वापस ले ली जाए .
  • इससे पहले मार्च 2018 में सर्वोच्च न्यायालय में दो बच्चो से सम्बंधित जनहित याचिका दायर की गई थी. परन्तु सर्वोच्च न्यायालय ने कहा की निति बनाने का काम सर्वोच्च नयायालय का नहीं है और ये संसद से सम्बंधित मामला है. न्यायालय इसमें दखल नहीं दे सकता . इतना कहकर सर्वोच्च न्यायालय ने याचिका को ख़ारिज कर दिया.

                   इस विधेयक के पक्ष में लोगो के तर्क.

 

  • इस विधेयक के पक्ष में तर्क है कि, जब जनसँख्या बढती है तो बेरोजगारी, गरीबी , अशिक्षा , और ख़राब स्वास्थ्य जैसी समस्याए उत्पनन होती है . इसलिए दो बच्चो की निति इस दिशा में कारगर साबित हो सकती है. 
  • एक शोध के अनुसार शहरी आबादी दो गुनी हो जायेगी. जिसके चलते शहरी शुविधाओ में सुधार व सभी को आवास उपलब्ध कराना एक चुनोती होगा. 
  • एक ओर तो जनसँख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है तो वहीँ दूसरी ओर कृषि योग्य भूमि तथा खाद्य फसलो के उत्पादन में कमी हो रही है . जिससे लोगो के सामने खाने पीने के सामान का संकट उत्पनन हो रहा है.
  • आय का असमान वितरण और लोगो के बीच बढती असमान अत्यधिक जनसँख्या, नकारात्मक परीणामो के रूप में सामने आएगी.

           इस विधेयक के विपक्ष में लोगो के विचार.

  • इस विधेयक के विपक्ष में लोगो का विचार है कि, इससे बढे पैमाने पर जबरन नसबंदी और गर्भपात जेसे उपाए अपनाएं जाने कि आशँका है
 

 
  • . इस निति से उमरदराज लोगो कि जनसख्या बढती जयगी तथा बुजुरगों को सहारा देने वाली युवा जनसनख्या मे कमी आ जायगी.
  • इस निति से हम अपनी जनसांख्यिकी लाभान्श की अवस्था को खो देंगे.

           जनसंख्या नियंत्रण के अन्य उपाय.

       हम जनसंख्या  को अन्य उपायों के द्वारा भी कम कर सकते है. जैसे--

  • यदि हम विवाह की आयु मे वृद्धि कर दे तो बच्चो की जन्म को नियंत्रित किया जा सकता है क्योकि आयु की एक निश्चित अवधि मे मनुष्य की प्रजनन दर अधिक होती है.  
  • शिक्षा की गुणवत्ता मे सुधार तथा लोगो के अधिक बच्चो को जन्म देने की सोच को बदलना होगा.

        आगे ‍‌क्या होगा. 

जनसंख्या वृद्धि ने कई समस्याओ को जन्म दिया है किन्तु इसके नियंत्रण के कानूनी तरीका एक उपयुक्त कदम नहीं माना जा सकता. क्युकी भारत की स्थिति चीन से अलग है, और भारत एक लोकतांत्रिक देश है . जहाँ हर किसी को अपने व्यक्तिगत जीवन में निणर्य लेने का अधिकार है.

भारत में कानून का सहारा लेने के बजाय जागरूकता अभियान , शिक्षा के स्तर को बढाकर तथा गरीबी को समाप्त करने जेसे उपाय अपनाकर  जनसंख्या के लिए प्रयास करने चाहिए....

  


टू चाइल्ड पाॅलिसी इन हिंदी , दो बच्चो का कानून इन हिंदी टू चाइल्ड पाॅलिसी इन हिंदी , दो बच्चो का कानून इन हिंदी Reviewed by Teck Qureshi on फ़रवरी 22, 2021 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.