Advertisement

Responsive Advertisement

अगर आप को पढ़ने का समय कम मिलता है तो अपनाए मनीष कुमार की पढने की रणनीति

 मनीष कुमार ने फुल टाइम नौकरी के साथ आईएएस की तैयारी की, और साल 2017 की UPSC परीक्षा में कमाल का प्रदर्शन करते हुए 61वीं रैंक भी हासिल की.

 आईएएस एक ऐसी है. नौकरी जिसे करने का हर एक स्टूडेंट का सपना होता है. क्यूंकि आईएएस बनने के बाद समाज में बदलाव करने की जो पॉवर मिलती है. शायाद ही किसी और नोकरी में मिले. इसलिए हर एक स्टूडेंट का सपना UPSC करने का होता है.

परन्तु इसमें बहुत कम लोग ही सफल हो पाते है. UPSC (आईएएस) का exam दुनिया का दूसरा और भारत का पहला सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है. कुछ स्टूडेंट तो UPSC की तैयारी 10वीं - 12वीं से ही शुरू कर देते है जबकि कुछ स्टूडेंट इसकी तैयारी ग्रेजुएशन-पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद शुरू करते है. और आईएएस बनकर देश सेवा करते है. 

Success Story Of IAS Topper Manish Kumar :- समाज में एक बात काफी प्रचलित है, कि आईएएस अधिकारी बनने के लिए 16-18 घंटे पढाई करनी पड़ती है. यदि आप इतने समय पढाई नहीं कर सकते तो आप आईएएस नहीं बन सकते है. और जॉब करते हुए तो आईएएस की तैयारी करना संभव नहीं है. क्योंकि जॉब करेंगे तो तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलेगा. (techqureshi)

लेकिन हम लोगो में से ही कुछ ऐसे भी होते है जो जॉब करते समय आईएएस की तैयारी तो करते ही है, साथ में आईएएस के exam में टॉप भी करते है. जी हाँ

हम बात कर रहे है. आईएएस मनीष कुमार की जिन्होंने जॉब करते हुए आईएएस एग्जाम ही पास नहीं किया बल्कि उसमे बहतरीन प्रदर्शन करते हुए 61 वीं रैक भी हासिल की.

आईएएस मनीष कुमार ने नौकरी के साथ कैसे की आईएएस की तैयारी.

दिल्ली नॉलेज ट्रैक - को दिये गये एक इंटरव्यू में मनीष कुमार कहते है. यह बात बिलकुल सच है. कि नौकरी के साथ आईएएस की तैयारी करना इतना आसान नहीं है,

लेकिन जब आपके पास पहले से एक अच्छी नौकरी है तो और फिर आप आईएएस की तैयारी करते है तो आप पॉजिटिव रहते है. क्योंकि आपके अंदर यह डर नहीं रहता है कि परीक्षा में असफल होने के बाद आपके करियर का क्या होगा. मनीष कुमार कहते है, कि नौकरी करते हुए आपको दिन में जितना भी समय मिलता है उसमे मन लगा कर पढाई करे.

पुरानी नौकरी अच्छी या बुरी 

हमें कभी भी अपनी पुरानी नौकरी की आलोचना नहीं करनी चाहिये. नौकरी कैसी भी है उसे प्रसन्न मन से करे और अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते रहे.

मनीष कुमार से उनकी पुरानी नौकरी को लेकर सवाल किया गया कि आप एक इतनी अच्छी नौकरी छोड़ कर इस फिल्ड में क्यों आना चाहते हो, तो उन्होंने जवाब दिया कि वे कुछ ओर बेहतर करना चाहते है. 

नौकरी करते हुए आईएएस की तैयारी कैसे करे.

मनीष कुमार दुसरे कैंडिडेट्स को सलाह देते हुए कहते है. कि जो लोग कैंडिडेट्स नौकरी करते है, उन लोगो को पढाई के लिए एक अच्छी रणनीति बनानी होगी, और हॉलीडेज के दिन पढाई को ज्यादा समय दे. यदि ऑफिस से छुट्टी मिलना संभव हो तो बीच-बीच में छुट्टी भी ले. और पढाई में ज्यादा धयान दे, ऑफिस में टाइम मिलते ही अपने नोट्स बनाएं और ऑडियो सुने, इस प्रकार आपकी तैयारी अछे से हो जायेगी.


धन्यवाद.....(techqureshi)


केन्द्रीय जाँच ब्यूरो सीबीआई क्या है 

दोस्त उड़ाते थे मजाक आईएएस नंदनी के. आर. ने आईएएस बनकर दिया जवाब  

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

  1. बारिश की तरह सुहानी है जिंदगी, समझो तो गंगा का पानी है जिंदगी, मिट्टी की खुशबू सी रूहानी है जिंदगी, रिश्तो में सिमटी सी कहानी है जिंदगी।

    जवाब देंहटाएं