विराट-कोहली के क्रिकेट का हीरो बनने का सफ़र, किस प्रकार उन्होंने बादशाहत कायम की.

 विराट कोहली का जन्म कब हुआ.

जय हिन्द दोस्तों आज हम विराट कोहली के जीवन से जुड़े कुछ रहस्य के बारे में जाने जानेंगे कि किस प्रकार कोहली बने क्रिकेट के विराट.

Techqureshi:- विराट कोहली का जन्म 05 नवम्बर 1988 को दिल्ली में एक पंजाबी परिवार में हुआ था. विराट कोहली के पिता एक वकील है जिनका नाम प्रेम कोहली है. तथा माता जी एक गृहिणी है.

virat-kohli

जिनका नाम सरोज कोहली है. विराट कोहली के एक बड़े भाई व एक बड़ी बहन भी है. विराट कोहली को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक था.  बताया जाता है कि जब विराट कोहली मात्र 3-4 साल के थे तभी उन्होंने क्रिकेट खेलने के शुरू कर दिया था. 

विराट कोहली की शिक्षा 

विराट कोहली की प्रारंभिक शिक्षा विशाल भारती पब्लिक स्कूल से पूर्ण हुई. विराट कोहली ने मात्र 12 तक ही पढाई की है. विराट कोहली पढने लिखने में भी एक अच्छे स्टूडेंट रहे. 9 वीं क्लास में विराट कोहली को सविएर कान्वेंट में दाखिल कराया गया, ताकि वे क्रिकेट का अच्छा प्रशिक्षण ले सके. विराट कोहली को हमेशा क्रिकेट खेलना ही पसंद था. जब विराट कोहली 9 साल के थे तभी विराट कोहली के पिता प्रेम कोहली ने 1998 में विराट कोहली को क्रिकेट अकादमी ज्वाइन कराई. विराट कोहली के क्रिकेट गुरु राज कुमार शर्मा थे, विराट कोहली ने सबसे पहला मैच सुमित डोंगरा अकादमी में खेला था. 


विराट कोहली का जीवन...

पूरा नाम - विराट प्रेम कोहली 

निक नेम - चीकू

जन्म      -  5-नवम्बर-1988

जन्मस्थान - दिल्ली

पिता जी - प्रेम कोहली जी

माता जी -सरोज कोहली जी 

पत्नी  -अनुष्का शर्मा

विराट कोहली का करियर 

विराट कोहली दायें हाथ के बल्ले बाज है. और दुनिया के सबसे अच्छे खिलाडियों मेंविराट कोहली को गिना जाता है. 

2004 में विराट कोहली "अंडर-17 दिल्ली क्रिकेट टीम" के सदस्य बने. इसके पीछे का कारण ये था कि, विराट कोहली ने "विजय मर्चंट ट्राफी" के 4 मैचों में 450 से अधिक रन बनाएं थे. इसी में उन्होंने एक दोहरा शतक (251) लगाया था. इसी के एक साल बाद विराट कोहली ने इसी ट्रॉफी में कोहली ने 7 मैचो में 84.12 के ओसत से और 2 शतक की मदद से सर्वाधिक 757 रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया. 

इसके बाद विराट कोहली को 2006 में भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम में चुना गया. और उनका पहला दौरा इंग्लैंड का हुआ, इस एक दिवसीय तीन मैचो में उन्होंने  105 रन बनाएं. और भारत ने दोनों सीरीज पर कब्ज़ा किया. विराट कोहली की प्रतिभा को देखते हुआ. अंडर-19 क्रिकेट में विराट कोहली को  एक  स्थाई खिलाडी के तौर पर रख लिया गया.

विराट कोहली तब ज्यादा सुर्खियों में आये, जब वो कर्नाटका के खिलाफ दिल्ली के लिए रणजी ट्रोफ़ी खेल रहे थे. मैच से पहले जब सभी खिलाडियों को पता चला कि विराट कोहली के पिता का देहांत हो गया तो सभी ये सोचने लगे की विराट की  जगह किसे खिलाया जायगा. परन्तु विराट कोहली अपना मैच खेले और बाकायदा टीम को जीत दिलाकर अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल भी हुए. इसी लिए कहा जाता है , कि ऐसे ही कोई कोहली विराट नहीं बनता.

धीरे-धीरे विराट कोहली क्रिकेट की सीडियां चढ़ते गये और आज उन्होंने वो मुकाम हासिल कर लिया. जिसका कई खिलाडी बस सपना ही देखते है. आज विराट कोहली भातीय टीम के कप्तान है. और इसी के साथ वो आईपीएल में बंग्लोरू टीम के भी कप्तानी भी करते है.

प्रधान मंत्री ने बदले तीन आइलैंड के नाम 

गरीब परिवार में जन्मे इस युवक ने खड़ी की करोडो की कंपनी  



विराट-कोहली के क्रिकेट का हीरो बनने का सफ़र, किस प्रकार उन्होंने बादशाहत कायम की. विराट-कोहली के क्रिकेट का हीरो बनने का सफ़र, किस प्रकार उन्होंने बादशाहत कायम की. Reviewed by Teck Qureshi on मई 08, 2021 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.